मलेरिया के लक्षण, कारण, बचाव, इलाज,परिक्षण – Malaria In Hindi

मलेरिया बुखार एक प्रकार के पैरासाइट के कारण होता हैं, जो की प्लासमोडियम पैरासाइट से संक्रमित मादा मच्छर एनोफेलीज के काटने से मानव शरीर में प्रवेश कर जाता हैं.

Malaria in hindi

मच्छर के काटने के बाद यह वायरस मानव के शरीर में प्रवेश कर जाता हैं और आखिर में मानव के लिवर में पहुँच जाता हैं, यहां पहुंच कर यह रेड ब्लड सेल्स पर हमला करता हैं.

आइये जाने Malaria Ke Lakshan और कारण क्या होते है.

(सिर्फ मादा एनोफेले ही मलेरिया बुखार को फैलाती हैं). यह जानकारी हमे एक आयुर्वेदिक घरेलु उपाय और नुस्खे के ब्लॉगसे प्राप्त हुई है, जिसका नाम है hindighareluupay अगर आपको और भी स्वस्थ जानकारी पोस्ट पढनी है तो आप यह क्लिक करे 

मलेरिया कैसे फैलता हैं

उदहारण के लिए कोई मानव या पशु मलेरिया के वायरस से संक्रमित हैं और ऐसे में अगर मादा एनोफेले मच्छर उस पशु या मानव को काट ले तो उस पशु के शरीर में मौजूद मलेरियाप्लासमोडियम वायरस मच्छर के शरीर में प्रवेश कर जाता हैं.

malaria ke lakshan

इस तरह मच्छर का शरीर व खून भी इस मलेरिया वायरस से संक्रमित हो जाता हैं फिर अब अगली बार यह मच्छरकिसी व्यक्ति या अन्य जिव को काटेगा तो इसमें मौजूद यह वायरस उसके शरीर में चला जायेगा. इस तरह मलेरिया फैलता हैं जिसमे यह मच्छर मलेरिया के संक्रमण को फैलाने काकाम करती हैं.

मलेरिया के प्रकार 

मलेरिया वायरस भी कई प्रकार के होते हैं, आइये जानिये लेरिया कितने प्रकार के होते हैं जैसे की –

plasmodium falciparum

plasmodium vivax

plasmodium ovale

plasmodium malariae

plasmodium knowlesi

भारत में ज्यादातर plasmodium vivax और plasmodium falciparum के वजह से लोगों को मलेरिया होता हैं.

जानिये मलेरिया बुखार के लक्षण क्या होते हैं

सिर्फ मलेरिया में ही ठण्ड लग कर बुखार आता हैं, यह मलेरिया का सबसे सामान्य लक्षण हैं. इसके साथ ही रोगी को सर्दी जुकाम भी लग जाती हैं व रोगी आलस्य से भर जाता हैं

ये भी पढ़े – MBBS Ka Full Form Of MBBS Full Form In Hindi

औरवह एक जगह आराम करने का सोचता हैं. मलेरिया में तेज बुखार भी आता हैं और थोड़ा कम बुखार भी बना रहता हैं. यह मलेरिया के संक्रमण पर निर्भर करता हैं की वह आपकेशरीर में कितनी मात्रा में प्रवेश किया हैं.

Normal And Severe 12 Malaria Symptoms in Hindi

malaria ke lakshan

ठण्ड लग कर बुखार आना

तेज बुखार का आना

ज्यादा पसीना आना

सर में दर्द होना

जी मचलना

उलटी जैसा मन होना

पेट में दर्द होना

दस्त लग जाना

मांसपेशियों में दर्द होना

मल में खून आना

गंभीर लक्षण

बहुत तेज ठण्ड लगना जिसमे रोगी ठिठरने लगे

मांसपेशियों में दर्द होना भी गंभीर लक्षण हैं

सांस लेने में परेशानी होना, गहरी सांस का चलना

आदि मलेरिया के गंभीर लक्षण दिखाई देने पर आपको तुरंत ही इसके उपचार में जुट जाना चाहिए. क्योंकि अगर मलेरिया का इस स्तिथि में इलाज नहीं करवाया जाये तो यह रोगी केलिए जानलेवा भी सिद्ध हो सकता हैं, इससे रोगी कोमा में भी जा सकता हैं.

मलेरिया का कारण – Causes Of Malaria

मलेरिया होने का सिर्फ एक ही कारण हैं और वह हैं मच्छर. सिर्फ मादा एनोफेलीज मच्छर के काटने से ही मलेरिया हो सकता हैं. ऐसे में मलेरिया से बचने के लिए जरुरी हैं की वहअपने को मच्छरों से दूर रखे. घर में साफ़ सफाई रखे व घर के आसपास कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव करवाए.

मलेरिया मच्छर के काटने के बाद कितने दिन में होता हैं

जब कोई संक्रमित मादा एनोफेले मच्छर किसी व्यक्ति को काटता हैं तो उसे मलेरिया बुखार आने में 7-10 दिन लग जाते हैं. यह वायरस शरीर के सभी अंगों से गुजर कर आखिर मेंलिवर में पहुंचता हैं

ये भी पढ़े – What Is AIDS Ka Full Form Of AIDS In Hindi

 और यहां आकर रेड ब्लड सेल्स को निष्क्रिय करने लगता हैं. जैसे ही मलेरिया वायरस लिवर में पहुंचता हैं वैसे ही रोगी के शरीर में लक्षण दिखाई देने लगते हैं. इसतरह मच्छर काटने के एक या दो सप्ताह के भीतर रोगी को मलेरिया हो जाता हैं.

मलेरिया का मच्छर

मलेरिया के मच्छर पानी से भरे गड्ढों, तालाब, झील के किनारे पर अंडे देते हैं. अंडे देने के बाद यह मात्र तीन दिन में ही अपना विकास कर हवा में उड़ जाते हैं

ये भी पढ़े – Aadhar Card Me Mobile Number Registration Kaise Kare

उम्मीद करते है की आपको आज का हमारा ये लेख आप सभी को पसंद आया होगा अगर आपको ये Malaria In Hindi लेख पसंद आया है तो आप इसे अपनों दोस्तों परिजनों के बिच जरूर शेयर करे ताकि उनको भी ये जानकारी मिल सके

धन्यबाद

मलेरिया के लक्षण, कारण, बचाव, इलाज,परिक्षण – Malaria In Hindi
5 (100%) 1 vote

About the Author: Suneet Srivastava

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!